Friday, April 28, 2006

तीन बार तौलो भारी गेंद टटोलो

पहेली की तरफ से यह पहेली पोस्ट की गयी थी
तीन बार तौलो भारी गेंद टटोलो: पहेली-4

आपके पास एक जैसे दिखने वाली 12 गेंदें हैं,
जिनमें से एक का वजन बाकी से ज्यादा है।
आपके पास एक तराजु भी है।
अब तीन बार तौल कर आप उस अलग गेंद को कैसे पता करेंगे?

मैं इस पर कुछ टिप्पणी करना चाहता था पर यह पोस्ट मिली ही नहीं लगता है कि वर्ड-प्रेस को ब्लौगर की बीमारी लग गयी| मैने सोचा कि जो टिप्पणी करनी थी वह मैं पोस्ट करके लिख दूं तो वह यह रही|

तराजू से तौल कर अलग गेंद को निकालने के कई रूप हैं| सबके अपने अपने स्तर हैं| उपर लिखी पहेली इसका सबसे आसान रूप है तथा इसका हल कई तरह से निकाला जा सकता है| इस पहेली का कुछ कठिन रूप इस प्रकार है| इसमें एक शर्त को छोड़ कर सब शर्तें वही हैं अलग गेंद हो सकता है कि बाकी गेंदों से भारी हो या हल्की| यानि कि पहेली बदल कर इस प्रकार से है

आपके पास एक जैसे दिखने वाली 12 गेंदें हैं,
जिनमें से एक का वजन बाकी से कम या ज्यादा है।
आपके पास एक तराजु भी है।
अब तीन बार तौल कर आप उस अलग गेंद को कैसे पता करेंगे?

आप पहले जैसा पहेली ने पहेली-४ के रूप में प्रकाशित किया था वैसे इसे हल करें फिर मैने जैसे उसकी एक शर्त बदल कर रखा है वह कोशिश करें|

4 comments:

  1. उन्मुक्त , आपने थोडी जल्दी कर दी। यह कठिन प्रश्न तो पहेली-5 के लिए सोचा था मैनें।

    ReplyDelete
  2. मैं यह टिप्पणी आपकी पोस्ट पर करने वाला था पर आपकी वेब साईट् खुली नहींं इसलिये मैने अपनी वेब साईट पर पोस्ट कर दी पर इसे संचालित आप ही करें| यदि आप को ठीक लगे तो,
    मैं अपनी पोस्ट मिटा द्ूं; या
    आपकी पोस्ट जो कि अब दिखायी पड़ रही है शायद इस पहेली पर एक नयी पओस्ट आयी है उस पर इसे टिप्पणी कर दूं जैसा मैने सोचा था, या
    ऐसे ही चलने दूं|

    ReplyDelete
  3. अरे उन्मुक्त, इसमें अपना पोस्ट मिटाने की बात कहाँ से आ गई। उद्देश्य की पूर्ति होनी चहिए, उसका माध्यम उन्मुक्त बने या पहेलीबाज़, क्या फर्क पड़ता है। हाँ, मैं इसका उत्तर मेल कर रहा हूँ। अब देखते हैं , इसे कौन महारथी सुलझाता है।

    ReplyDelete
  4. आप वाली पहेली कई तरह से सुलझायी जा सकती है| ६-६ गें्द लेकर| ५-५ गेंद लेकर| ४-४ गेंद लेकर| ३-३ गेंद लेकर| पर यह पहेली वास्तव में कठिन है| मेरे विचार से आप इसे अपनी पोस्ट पर प्रकाशित कर लें तथा कुछ संकेत भी दें|
    इस कठिन स्वरूप का हल निकालने के लिये मेरे विचार से शुरूवात केवल एक तरीके से की जा सकति है तथा दुसर्ी बार तौलने के पहिले एक महत्वपूण कदम उठाना पड़ेगा| शायद इतना संकेत इस पहेली का हल ढ़ूढ़ने के लिये काफी नहीं है कुछ और संकेत भी देना चाहिये|
    मैं खासतौर से आपके लिये एक चिठ्ठी लिख रहा हूं आपको समर्पित करते हुये बहुत जल्द प्रकाशित करूंुंगा|

    ReplyDelete

आपके विचारों का स्वागत है।