Saturday, October 26, 2013

एसीमोव के द्वारा लिखित स्वतंत्र कहानियां

इस चिट्ठी में,  आइज़ैक एसिमोव के द्वारा लिखी स्वतंत्र विज्ञान कहानियों की चर्चा है।
'अमेजिंग स्टोरीस्' पत्रिका में एसीमोव की पहली छपी। उस पत्रिका का पहला अंक - चित्र विकिपीडिया से।

आइज़ैक एसिमोव के लेखक जीवन का आरंभ १९ वर्ष की आयु में, १९३९ को शुरू हुआ। इस साल उनकी पहली रचना, जो कि 'मॅरून्ड ऑफ वेस्टा' (Marooned off Vesta) नाम से लघु कथा थी, 'अमेजिंग स्टोरीस्' (Amazing Stories) में छपी।

इसके दो साल बाद ही, उन्होंने 'नाईट फॉल' (Night Fall ) नामक कहानी लिखी। विस्तार से, इस कहानी की चर्चा 'बाईबिल, खगोलशास्त्र, और विज्ञान कहानियां' नामक श्रंखला की 'जब रात हुई' कड़ी में है। बहुत से लोग, इस कहानी को उनकी सबसे अच्छी कहानी मानते हैं। उसके बाद एसीमोव ने, पीछे मुड़कर नहीं देखा।


'द फेन्टास्टिक वॉयेज' (The Fantastic Voyage) पहले एक फिल्म बनी। उसके बाद इसी नाम से एक उपन्यास आया। यह दोनों समझने में आसान और तेज चलने वाली। और आपको पकड़ कर रखने वाली है। 

यह एक पनडुब्बी में सवार चार पुरूषों और एक महिला की कहानी है। जिसे छोटा कर,  मस्तिष्क के अन्दर खून के थक्के को समाप्त करने के लिये धमनियों के द्वारा डाला जाता है। इसमें एक खलनायक और यह पनडुब्बी शरीर के सारे भागों मे घुमती है। 

इस कहानी से, एसीमोव कभी संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने एक अन्य उपन्यास 'द फेन्टास्टिक वॉयेज-II'  (The Fantastic Voyage-II) लिखा। 

इनके अतिरिक्त, उन्होंने १९५५ में 'द एण्ड ऑफ इटरनिटी' (The End of Eternity) (1955), १९७२ में 'द गॉडस् देमसेल्वस्' (The Gods Themselves) और १९८९ मे, 'नेमेसिस' (Nemesis) लिखी। इसमें से 'द एण्ड ऑफ इटरनिटी' और 'नेमेसिस' का संबन्ध फाउन्डेशन श्रंखला से है।


एसीमोव ने बहुत सी लघु विज्ञान कहानी लिखीं। इन्हें संकलित कर छापा गया है। ये सब पढ़ने योग्य हैं। उनके द्वारा लिखी 'नाईन टुमॉरोज़'  (Nine Tomorrows), आने वाले कल के बारे में, ९ लघु कहानियां हैं। मेरे विचार से यह पुस्तक, अब तक लिखित लघु विज्ञान कहानियों का सबसे अच्छा संकलन है। मैंने इससे अच्छी लघु विज्ञान कहानियां नहीं पढ़ीं।  


अगली बार हम लोग रोबोट और गैलेक्टिक ऐम्पायर श्रंखला के बारे में चर्चा करेंगे। 

विज्ञान कहानी और विज्ञान लेखकों में सिरमौर - आइज़ैक एसीमोव 
भूमिका।। 'कलार्क-एसीमोव' संधि।। आश्चर्य नहीं, आइज़ैक अच्छा कर रहा है।। एसीमोव द्वारा लिखित श्रंखलाऐं।।  एसीमोव के द्वारा लिखित स्वतंत्र कहानियां।।

About this post in Hindi-Roman and English
This post in Hindi (Devnagri script) is about independent stories and novels written by Isaac Asimov. You can read it in Roman script or any other Indian regional script also – see the right hand widget for converting it in the other script.

hindi (devnagri) kee yeh chitthi, Isaac Asimov ke dvara likhee svtantra khaniyon evam upanyaas kee charchaa hai. ise aap roman ya kisee aur bhaarateey lipi me padh sakate hain. iske liye daahine taraf, oopar ke widget ko dekhen.


सांकेतिक शब्द
। Independent short stories and novels by Asimov, short stories by Asimov,
आइज़ैक एसीमोव, Isaac Asimov home page,
जीवनी, जीवनी, जीवनीbiography,
। Hindi, Devnagri, हिन्दी, देवनागरी,

8 comments:

  1. ज्ञानवर्धक, बेस्ट आफ आसिमोव उनकी एक और लघु कहानियों का संग्रह है जिसमें बड़ी सुन्दर सुन्दर कहानियाँ है जैसे लास्ट ऐंसर और स्पेल माई नेम विद एस आदि हैं !

    ReplyDelete
  2. "EYE'zik AA'zi-mov"-इस लिहाज से उनके नाम का हिन्दी उच्चारण आइज़िक आज़िमोव होना चाहिए ! मुझे लगता है हिन्दी में इनके नाम के उच्चारण में बरती जा रही स्वच्छंदता को समाप्त किया जान चाहिए !

    ReplyDelete
    Replies
    1. अरविन्द जी, उच्चारण के बारे लोगों की अलग अलग धारणा है। Linux को ही देखें। इसका सही उच्चारण लिनुक्स है पर इस न केवल अपने देश में पर बाहर भी अलग तरह से बोलो जाता। इसके अतिरिक्त बहुत से शब्द हैं जिनका सही उच्चारण करने पर लोग आपको बेवकूअ समझेंगे, जैसे कि Chasis, या Dais.
      Aristotle, Socrates के नाम भी अंग्रेजी में अलग तरह से और हिन्दी में अलग तरह से बोले जाते हैं।
      मैं नहीं जानता कि Asimov का सही उच्चारण क्या है पर अपने देश में इसे वैसे ही बोला जाता है जैसा मैंने लिखा है। आपकी पिछली टिप्पणी के बाद मैंने अन्तरजाल पर इसका उच्चारन पता करने की कोशिश की। ज्यादातर लोगों ने इसे वैसे ही बताया जैसा मैंने लिखा है। यदि आप जैसा बता रहे हैं यदि वैसे किखूंगा तो शायद लोग ठीक से न समझ पायें।

      Delete
  3. Has Him Of" and leave out the H's.

    ReplyDelete
  4. कभी पढ़ी नहीं, पर आपके माध्यम से पढ़ ही लेगें।

    ReplyDelete
  5. Unmukt ji.
    Kindly refer to following link -
    http://www.asimovonline.com/asimov_FAQ.html#non-literary1
    How do you pronounce "Isaac Asimov"?
    "EYE'zik AA'zi-mov". The name is spelled with an "s" and not a "z" because Asimov's father didn't understand the English alphabet clearly when the family moved to the U.S. in 1923. (In Russian, the spelling was the Cyrillic equivalent of Azimov, and in Yiddish, the Hebrew letters were aleph-zayin-yod-mem-aleph-vav-vav.) One way to remember this pronunciation is the pun from The Flying Sorcerers by Larry Niven and David Gerrold: "As a color, shade of purple-grey", or "As a mauve". Asimov wrote a poem ("The Prime of Life") in which he rhymes his surname with "stars above"; someone else suggested amending the poem to rhyme it with "mazel tov", which he thought an improvement.

    Asimov's own suggestion, however, as to how to remember his name was to say "Has Him Of" and leave out the H's.

    ReplyDelete
  6. उन्मुक्त जी
    अधिक जानकारी व्यक्ति को सुधारती है -पहले मैं भी आसिमोव लिखता था मगर अब आजिमोव लिखता हूँ और लोगों को इसे अंगीकार करने का आह्वान भी करता रहता हूँ -और यह मैं विरक्त भाव से करता हूँ -

    ReplyDelete
  7. हम्म..कितना कुछ है पढ़ने को!

    ReplyDelete

आपके विचारों का स्वागत है।