Saturday, November 09, 2013

फाउन्डेशन श्रृंखला - विज्ञान कहानियों में सबसे अच्छी

इस चिट्ठी में,  आइज़ैक एसिमोव की फाउन्डेशन श्रंखला का जिक्र है। 

आइज़ैक एसिमोव की सबसे लोकिप्रय श्रंखला 'फाउन्डेशन श्रंखला' (Foundation Series) है। प्रकाशन की दृष्टि से इस श्रंखला का प्रथम उपन्यास, 'फाउन्डेशन', (Foundation) है। यह प्रारंभ में चार कहानियों के रूप में १९४२ से १९४४ के बीच प्रकाशित हुआ था। बाद में, इन चार कहानियों को जोड़ कर, उपन्यास के रूप में १९५१ में प्रकाशित हुआ।

बाद में, एसीमोव ने, इस श्रंखला में दो और उपन्यास लिखे - १९५२ में 'फाउन्डेशन एन्ड द एम्पायर' (Foundation and the  Empire) और १९५३ में  'द सेकण्ड फाउन्डेशन' (The Second Foundation) लिखे। फाउन्डेशन श्रंखला के यह तीन उपन्यास, अब तक लिखी गयी किसी भी विज्ञान कथा साहित्य में सर्वोत्तम हैं। 


फॉउन्डेशन श्रंखला के इन तीन उपन्यासों पर, बीबीसी ने १९७३ में ८ घन्टे की रेडियो श्रंखला भी बनायी है। इसका पुनः प्रसारण १९७७ और २००२ में हुआ। 

फाउन्डेशन श्रंखला का सफर, इन्हीं तीन उपन्यास पर नहीं समाप्त हुआ, यह आगे चलता गया। 


इसके पश्चात ही इस श्रृंखला में दो और उपन्यास  -  १९८२ में, 'फाउन्डेशनस् एज़' (Foundation's Edge) और  १९८६ में,'फाउन्डेशन एण्ड अर्थ' (Foundation and Earth) जोड़े गये। लोगों ने सोचा कि यह श्रंखला अब समाप्त हो गयी लेकिन १९८८ में,  उन्होंने 'प्रिल्यूड टू फाउन्डेशन' (Prelude to oundation) Foundation) और १९९३ में 'फॉर्वर्ड द फाउन्डेशन' (Forward the Foundation) का प्रकाशन किया। 

जॉर्ज ल्यूकस् की स्टार वारस् श्रंखला फिल्में, इन फिल्मों के कई किरदार, इस फाउन्डेशन श्रंखला से प्रेरित लगते हैं।

उक्त सात पुस्तकें, फाउन्डेशन श्रृंखला से संबंधित हैं। इन्हें आगे पीछे लिखा गया है। इन पुस्तकों का क्रम, कहानी के समय के अनुसार, इस प्रकार है: 

  1. 'प्रिल्यूड टू फाउन्डेशन' (१९८८);
  2. 'फॉर्वर्ड द फाउन्डेशन' (१९९३);
  3. 'फाउन्डेशन' (१९५१);
  4. 'फाउन्डेशन एन्ड एम्पायर' (१९५२);
  5. 'द सेकण्ड फाउन्डेशन' (१९५३);
  6. 'फाउन्डेशनस् एज़'  (१९८२);
  7. 'फाउन्डेशन एण्ड अर्थ' (१९८६)।
एसीमोव ने कई श्रंखलायें लिखीं। इसमें से मुख्य तीन हैं—फाउंडेशन, रोबोट, और गैलेक्टिक ऐम्पायर। इनमें लिखी कहानियां एक दूसरे से अलग हैं। न वे एक कड़ी में लिखी गयी हैं और न ही वे जोड़ने के आशय से लिखी गई थीं, फिर भी, एसीमोव ने फाउंडेशन श्रंखला में, उन्हें जोड़ने का प्रयत्न किया है। इनमें कुछ विसंगतियां हैं क्योंकि, इनकी शुरूआत योजनाबद्ध नहीं थी। लेकिन, वे एक दूसरे से संदर्भित हैं। इस लिये, शायद इन सब को, 'फाउन्डेशन यूनिवर्स' (Foundation Universe) के रूप में संबोधित करना ठीक होगा।

'फाउन्डेशन यूनिवर्स' की कहानियां, भविष्य की तस्वीर प्रस्तुत करती हैं। इन कहानियों में, भविष्य का सजीव चित्रणन, कहानियों के माध्यम से किया गया है। यह मंत्रमुग्ध करने वाली और  आनन्ददायी हैं। उन्हें एक बार शुरू करने के बाद छोड़ने का मन नहीं करता। यह बात ऐसीमोव के द्वारा लिखी किसी भी विज्ञान कहानी के लिये सच है। 


विज्ञान कहानी और विज्ञान लेखकों में सिरमौर - आइज़ैक एसीमोव 
भूमिका।। 'कलार्क-एसीमोव' संधि।। आश्चर्य नहीं, आइज़ैक अच्छा कर रहा है।। एसीमोव द्वारा लिखित श्रंखलाऐं।।  एसीमोव के द्वारा लिखित स्वतंत्र कहानियां।। रोबोट और गैलेक्टिक ऐम्पायर श्रंखला।। फाउन्डेशन श्रृंखला - विज्ञान कहानियों में सबसे अच्छी।। 

About this post in Hindi-Roman and English
This post in Hindi (Devnagri script) is about Foundation series written by Isaac Asimov. You can read it in Roman script or any other Indian regional script also – see the right hand widget for converting it in the other script.

hindi (devnagri) kee yeh chitthi, Isaac Asimov ke dvara likhee foundation shrankhala kee charchaa hai. ise aap roman ya kisee aur bhaarateey lipi me padh sakate hain. iske liye daahine taraf, oopar ke widget ko dekhen.


सांकेतिक शब्द
Foundation series, Foundation, Foundation trilogy (BBC radio),
आइज़ैक एसीमोव, Isaac Asimov home page,
जीवनी, जीवनी, जीवनीbiography,
। Hindi, Devnagri, हिन्दी, देवनागरी,


3 comments:

  1. रोचक और जानकारीपूर्ण -फाउंडेशन सीरीज के जन्म प्रक्रिया में ऐस्टाउन्डिंग साईंस फिक्शन के संपादक जाह्न डब्ल्यू कैम्पबेल की प्रेरणा का भी जिक्र आजिमोव ने किया है !

    ReplyDelete
  2. नवीन जानकारी जो सिर्फ आपसे ही मिल सकती है ।

    ReplyDelete
  3. shweta7:16 pm

    Recently i found a collection of stories of Issac Asimov. under title "Best of Author " chosen by author himself . In that a short story had title " Spell my name with S " . while reading the preface of book it was written by Author (Issac Asimov ) "....The suggestion to write this story was given by a lady librarian XYZ (forgot name ) . she suggested me to write a story with the given title if i am so much frustrated by the wrong spelling used by people . I liked that idea and after few months wrote this story " .

    ReplyDelete

आपके विचारों का स्वागत है।