Tuesday, December 01, 2015

हम अकेले नहीं हैं

बीती बात को पीछे छोड़, जीवन को नयी परिस्थिति में पुनः ढालना ही जीना है। जीना इसी का नाम है। इसी की कुछ चर्चा इस चिट्ठी में।
खुशमय जीवन

Saturday, November 21, 2015

हीरा देने वालों का दिल भी हीरे जैसा

इस चिट्ठी में महारानी विक्टोरिया के एक प्रसंग से, एक विज्ञापन और तहज़ीब के बारे में चर्चा है। 

महारानी विक्टोरिया - चित्र विकिपीडिया से

Friday, October 30, 2015

अलविदा फेसबुक

मैं अब फेसबुक पर नहीं हूं। अब केवल गूगल प्लस, ट्वीटर और चिट्ठों पर हूं। ऐसा क्यों है इसके बारे में, इस चिट्ठी चर्चा है।

Sunday, June 28, 2015

अब, मां को बताने पर शर्म कैसी।

इस चिट्टी में, अमेरिकी सर्वोच्च न्यायालय के नवीनतम फैसले की चर्चा है जिससे समलैंगिक लोगों के बीच शादी को, कानूनी मान्यता दे दी गयी है।

Tuesday, January 20, 2015

‘टु किल अ मॉकिंगबर्ड’ पुस्तक ने वकीलों का सम्मान बढ़ाया

मार्क गैलेन्टर ने अपनी पुस्तक 'लोवरिंग द बार - लॉयर जोकस् एन्ड लीगल कलचर' में ‘टु किल अ मॉकिंगबर्ड’ एवं इसके वकील हीरो एटिकस फिन्च के बारे में कुछ रोचक तथ्यों को लिखा  है। इस चिट्ठी में उन्हीं तथ्यों की चर्चा है।