Saturday, January 17, 2009

कल्पित चारित्य रमपोल के सृजनकर्ता - जॉन मॉरटिमर की मृत्यु, एक श्रद्धांजलि।


रमपोल, पैरी मेसन की तरह एक कल्पित वकील हैं। उनके सृजनकर्ता हैं - जॉन मॉरटिमर। इनकी मृत्य कल, १६ जनवरी २००९ को ८५ साल की उम्र में हो गयी। यह चिट्ठी उन्हीं को श्रद्धांजलि है।

यदि आप मुझसे पूछें कि दुनिया में आज तक सबसे प्रसिद्ध वकील कौन हुआ है तो निःसन्देह मेरा जवाब होगा पैरी मेसन (Perry Mason)। इस चारित्य का सृजन एर्ल स्टैनली गार्डनर (Erle Stanley Gardner) (जन्म १७-७-१८८९ मृत्यु ११-३-१९७०) ने पैरी मेसन चारित्य का सृजन,१९३० के दशक में, किया था। तब से यह सैकड़ों निर्दोष लोगों को फांसी के फन्दे से छुड़ा सकने में कामयाब हुऐ हैं। मेसन फौजदारी के वकील हैं। उनके मुवक्किल हमेशा निर्दोष होते हैं जिन्हें वे अन्त में बचाने में सफल होते हैं।

एर्ल स्टैनली गार्डनर का यह चित्र विकिपीडिया के सौजन्य से है।

गार्डनर की मृत्यु के पश्चात थॉमस चेस्टॅन (Thomas Chastain) ने पैरी मेसन के दो उपन्यास लिखे। सच पूछिये तो यह उपन्यास कानूनी उपन्यास कम पर जासूसी उपन्यास ज्यादा हैं। यह अपने में बेहतरीन हैं और आपको को शुरू से अन्त तक, बांध कर रखते हैं। मेरे बचपन और युवा अवस्था में यह उपन्यास आम थे और मेरी युवा अवस्था इन्हीं के बीच बीती।

पैरी मेसन पर १९३३ में लिखा गया, प्रथम उपन्यास - द केस ऑफ वेलवेट क्लॉज़

१९७० के दशक के शुरू में ही मैंने अपनी उच्च शिक्षा समाप्त की और फाइलें को इधर उधर पलटने वाला बन गया। जब यौवन अपने पूरे जोर पर था और मैंने गृहस्थ आश्रम में प्रवेश किया तब ही एक नये कल्पित वकील ने जीवन में प्रवेश किया उसका नाम था - होरेस रमपोल (Horace Rumpole)।

होरेस रमपोल चारित्य का सृजन, जॉन मॉरटिमर (John Mortimer) (जन्म २१-४-१९२३ मृत्यु १६-१-२००९) ने किया। यह सबसे पहले १९७५ में, बीबीसी के टीवी सीरियल के रूप में आये और उसके बाद इसकी सबसे पहली पुस्तक १९७८ में रमपोल ऑफ द बेली (Rumpole of the Bailey) के नाम से आयी। इसके बाद अन्य कई पुस्तकें इस चारित्य के आधार पर लिखी गयी।


मेसन जहां शादी शुदा नहीं हैं पर डेला स्ट्रीट उनकी खास सक्रेटरी हैं। डेला, मेसन का ख्याल रखने में कोई कमी नहीं रखतीं हैं - शायद उनकी पत्नी भी होती तो भी उतना ख्याल न रख पाती पर मेसन और डेल अलग अलग फ्लैट में रहते हैं और होटलों में वे भी अलग अलग कमरों में रुकते हैं। वहीं रमपोल की शादी हिल्डा रमपोल (Hilda Rumpole) जिनके लिये रमपोल कहते है वह जिसकी आज्ञा मानना जरूरी है (She Who Must Be Obeyed)।

हिल्डा महत्वाकांक्षी महिला हैं अपने पति को महरानी का वकील (Queen's Counsel) (Q.C.), जो कि अपने देश में वरिष्ट वकील के बराबर है, बनते और उसे अपने चैम्बर की मुखिया बनते देखना चाहती हैं पर रमपोल को इसमें कोई रुचि नहीं है।

मैं यहां यह बताना चाहूंगा कि जब किसी को महरानी का वकील बनाया जाता है तो इसे टेकिंग द सिल्क (taking the silk) कहते हैं।


रमपोल एक अवकाश लिये हुऐ बैरिस्टर हैं जो अपने मुकदमों के संस्मरण लिख रहे हैं। वे हर तरह के मुकदमें (दीवानी के भी) करते हैं। रमपोल के कई उद्धरण मेरे प्रिय उद्धरणों में से हैं। इनमें से मुख्य हैं
  • 'Abolish crime and we should all vanish.' अपराध समाप्त करें, तो हम सब (वकील) समाप्त हो जायेंगे
  • 'Lawyers and Tarts are two oldest professions in the world. And we always aim to please.' वकील और वेश्या दुनिया के सबसे पुराने पेशों में से हैं। हम दोनो का काम दूसरों को खुश करना है।
  • 'Being a lawyer has got almost nothing to do with knowing the law.' वकील होने का मतलब यह नहीं के आपको कानून अच्छा आता हो।
  • 'Once you are a lawyer you are addicted.' आप जब वकील बन जाते हैं तो अपने पेशे के नशे में धुत रहते हैं।
  • 'I want your opinions and not your doubts.' मैं तुम्हारी राय जानना चाहता हूं न कि तुम्हारे शक।
  • 'I may be wrong and some time am, but I am never in doubt.' मैं गलत हो सकता हूं और कभी कभी गलत हो सकता हूं पर मैं कभी भी शुबह में नहीं रहता।
  • 'I do not envy their reputation in this world or their fate thereafter.' मैं न तो उनकी [वकीलों] की ख्याति से इस दुनिया में डाह करता हूं न ही ही उसके बाद उनके भाग्य पर।
मुझसे आखिरी उद्धरण का अनुवाद ठीक प्रकार से नहीं हो पा रहा है। अंग्रेजी में यह वकीलों का हास्य बनाते वाक्य की तरह प्रयोग होता है।


रमपोल के पहले टेलीविजन ऍपीसोड का पूर्व-प्रदर्शन यहां देखें। इस ऍपीसोइ को आप पूरा भी देख सकते हैं पर उसके लिये आपको एक वेब प्लेयर स्थापित करना पड़ेगा। मैंने जब इसे स्थापित करने का प्रयत्न किया तो पता चला कि यह केवल विंडोज़ पर चलेगा :-(


मेरे और मुन्ने की मां के बीच अक्सर यह कहानियां आ जाती थीं। यह कहानियां रोचक हैं इनकी अंग्रेजी सरल और वैसी है जैसे कि किसी भाषा को लिखा जाना चाहिये। अक्सर लोग कठिन भाषा में लिखते हैं और इस प्रकार से लिखते हैं कि समझने में कठिनायी हो पर इनमें कुछ भी ऐसा नहीं है। मेरे वकील मित्र इकबाल के अनुसार,
'पैरी मेसन की कहानियां, हिन्दी फिल्मों दिखाये जाने न्यायलय की कहानियों की तरह होती हैं पर यह बात रमपोल के लिये सही नहीं है। इसकी कहानियां बहुत वास्तविकता के बहुत करीब हैं बस उनमें इतनी देरी नहीं होती है।'

यदि आपने इन्हें नहीं पढ़ा है तो पढ़ कर देखें यदि आपको कानूनी मुद्दों पर रुचि न हो तब भी इसे इसकी भाषा और कहानियों के लिये पढ़ कर देखें। यह न केवल आपको बांध कर रखेंगी पर आपको आभास भी दिलायेंगी कि कैसी भाषा का प्रयोग किया जाना चाहिये। सच तो यह है कि उच्च कोटि की भाषा वह होती है जो जन मानस को आसानी से समझ में आये - न कि वह जैसे साधरणतयाः समझी जाती है।



जॉन मॉरटिमर ने अपनी शिक्षा हैरो विद्यालय और ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय से १९४२ में पूरी की। इनर टेम्पल (Inner Temple) से १९४८ में वे बैरिस्टर बने। १९६६ में वे को महरानी के वकील (Queen's Counsel) (Q.C.) बने। १९९८ में नाइट की उपाधि मिली।


मॉरटिमर अपने पीछे अपनी विधवा दूसरी पत्नी और पांच बच्चों को छोड़ गये हैं। उनका एक बेटा और एक बेटी पहली पत्नी से है। दूसरी पत्नी से दो बेटियां है जिसमें कि एक, एमाइली मॉरटिमर (Emily Mortimer), फिल्म अभिनेत्री हैं। उनका एक नाजायज़ बेटा, वेन्डी क्रेग (Wendy Craig), से है।

हिन्दी में नवीनतम पॉडकास्ट Latest podcast in Hindi
(सुनने के लिये चिन्ह शीर्षक के बाद लगे चिन्ह ► पर चटका लगायें यह आपको इस फाइल के पेज पर ले जायगा। उसके बाद जहां Download और उसके बाद फाइल का नाम अंग्रेजी में लिखा है वहां चटका लगायें।: Click on the symbol ► after the heading. This will take you to the page where file is. Click where 'Download' and there after name of the file is written.)
यह ऑडियो फइलें ogg फॉरमैट में है। इस फॉरमैट की फाईलों को आप -
  • Windows पर कम से कम Audacity, MPlayer, VLC media player, एवं Winamp में;
  • Mac-OX पर कम से कम Audacity, Mplayer एवं VLC में; और
  • Linux पर सभी प्रोग्रामो में - सुन सकते हैं।
बताये गये चिन्ह पर चटका लगायें या फिर डाउनलोड कर ऊपर बताये प्रोग्राम में सुने या इन प्रोग्रामों मे से किसी एक को अपने कंप्यूटर में डिफॉल्ट में कर लें।


yeh post runmpole ke srijnkarta John Mortimer ko shrdhanjali hai. yeh hindi (devnagree) mein hai. ise aap roman ya kisee aur bhaarateey lipi me padh sakate hain. isake liye daahine taraf, oopar ke widget ko dekhen.

This is post is tribute to John Mortimer - the creator of character of barrister Horace Rumpole. It is in Hindi (Devnaagaree script). You can read it in Roman script or any other Indian regional script also – see the right hand widget for converting it in the other script.


सांकेतिक शब्द
biography, People, जीवनी, जीवनी,
book, book, books, Books, books, book review, book review, book review, Hindi, kitaab, pustak, Review, Reviews, किताबखाना, किताबखाना, किताबनामा, किताबमाला, किताब कोना, किताबी कोना, किताबी दुनिया, किताबें, किताबें, पुस्तक, पुस्तक चर्चा, पुस्तकमाला, पुस्तक समीक्षा, समीक्षा,
Reblog this post [with Zemanta]

7 comments:

  1. पैरी मेसन को तो खूब पढ़ा है परन्तु रमपोल से जान पहचान नहीं हो सकी. परिचय कराकर प्रेरित करने का आभार.

    ReplyDelete
  2. रूचीकर लेख था. जानकारी के लिए धन्यवाद. मेरी अंग्रेजी ठीक नहीं है अतः सिडनी-सेल्डन तक ही पढ़ पाता हूँ. इन्हे कोशिश करूँगा.

    ReplyDelete
  3. रोचक आलेख. पैरी मेशन की कथाओं के बारे सुना जरुर है पर पढ़ा नहीं अभी तक.

    ReplyDelete
  4. पेरीमेसन वकील बनने के दिनों ही पढ़ चुका था। लेकिन रमपोल से तो आज ही पहचान हो रही है। बहुत ही सुंदर आलेख है।

    ReplyDelete
  5. पैरी मेशन के बारे आज ही पता चला आप के लेख से .
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  6. अवकाश प्राप्त बैरिस्टर रैमपोल या यूँ कहिये जान मारटिमर के वकालत पेशे को लेकर की गई टिप्पड़ियाँ शानदार और जानदार हैं। रोजी-रोटी के लिए वकालत का धन्धा अन्तिम विकल्प होंना चाहिये। कहते हैं मरते ही जब वकील साहब को यमदूत नर्क की ओर ले जानें लगे तो वकील साहब की नाराजगी पर यमदूत नें बताया कि वकीलों के लिए स्टैंड़िग आड़र्स हैं सीधे नर्क में ले जानें के।

    ReplyDelete
  7. बहुत बढियां लिखा है आपने पेरी मेसन और जान मार्तिमर के कल्पित चरित्र रमपोल के बारे में -जान मार्तिमर को श्रद्धांजलि !
    मैंने पेरी मेसन को बचपन में खूब पढ़ा है -एक समय था जब अगाथा क्रिस्टी और पेरी मेसन की ही धूम थी ! पेरी मेसन की एक कृति अ केस आफ परज्योर्ड पैरट के दृश्य तक याद हैं मुझे !
    तो ऐसे माहौल ने आपको संस्कारित किया है -तभी कहूं कि कैसे कुछ साम्य ,तादात्म्य सा है मेरा और उन्मुक्त जी का ! (मेरी हिमाकत )

    ReplyDelete

आपके विचारों का स्वागत है।