Tuesday, November 29, 2016

क्या अन्तरजाल की गोपनीयता भंग होगी



इस चिट्ठी में - अभाज्य अंक (prime number), अन्तरजाल पर गोपनीयता, इन दोनो के बीच संबन्ध, और प्रोफेसर मार्कस डू सौतॉय (Marcus du Sautoy) के एक विडियो, जहां वे इसे समझा रहे हैं - पर चर्चा है।

Thursday, November 24, 2016

नोटबन्दी हाय हाय - नोटबन्दी हिप हिप हुर्रे

इस चिट्ठी में, कुछ चर्चा नोट बन्दी के बारे में

Thursday, November 17, 2016

लबड़धोंधो ही रहोगे

इस चिट्ठी में, साउथ अफ्रीका की यात्रा के दौरान एक घटना का जिक्र है जो यात्रा संस्मरण लिखते समय शर्म के मारे नहीं लिख सका था।

Sunday, October 30, 2016

द इमिटेशन गेम

ऐलेन ट्यूरिंग आधुनिक कंप्यूटर के पिता कहे जाते हैं। दूसरे विश्व युद्ध में उनका योगदान महत्वपूर्ण था। इस चिट्ठी में, उनकी जीवनी 'ऐलेन ट्यूरिंग - द एनिगमा' (Alan Turing: The Enigma) पर बनी फिल्म 'द इमिटेशन गेम' की (The Imitation Game) की समीक्षा है।

Wednesday, October 19, 2016

गलती अपनी, लांछन किसी और पर


हर मोबाइल, हर देश में काम नही करते। इसका अनुभव मुझे अमेरिका में हुआ। गलती मेरी थी और में दोष नेटवर्क वालों को दे रहा था। इसी की चर्चा इस चिट्ठी में है।


Thursday, October 13, 2016

द मैन हू न्यू इनफिनिटी

इस चिट्ठी में, रॉबर्ट केनिगेल (Robert Kanigel) के द्वारा लिखी पुस्तक 'द मैन हू न्यू इनफिनिटी: अ लाइफ ऑफ द जीनियस रामानुजन' (The Man Who Knew Infinity: A Life of the Genius Ramanujan) पर इसी नाम से बनी फिल्म की समीक्षा है।

Sunday, June 19, 2016

कुछ यादें अपने पिता के बारे में


२०वीं शताब्दी के शुरु से, जून का तीसरा इतवार फादर्स् डे के रूप में मानाया जाता है। आज जून का तीसरा इतवार है। इस चिट्ठी में, कुछ बातें अपने पिता के बारे में।

Tuesday, December 01, 2015

हम अकेले नहीं हैं

बीती बात को पीछे छोड़, जीवन को नयी परिस्थिति में पुनः ढालना ही जीना है। जीना इसी का नाम है। इसी की कुछ चर्चा इस चिट्ठी में।
खुशमय जीवन

Saturday, November 21, 2015

हीरा देने वालों का दिल भी हीरे जैसा

इस चिट्ठी में महारानी विक्टोरिया के एक प्रसंग से, एक विज्ञापन और तहज़ीब के बारे में चर्चा है। 

महारानी विक्टोरिया - चित्र विकिपीडिया से

Friday, October 30, 2015

अलविदा फेसबुक

मैं अब फेसबुक पर नहीं हूं। अब केवल गूगल प्लस, ट्वीटर और चिट्ठों पर हूं। ऐसा क्यों है इसके बारे में, इस चिट्ठी चर्चा है।